ब्रह्माण्ड कितना पुराना है ?

ब्रह्माण्ड कितना पुराना है ? : 28 वे महायुग के तिन (सत्य, त्रेता, दवापर) बित चुके है! 1 महायुग = 4,320,000 कलि महायुग का 10 % होता है =4,320,000*(10 /100 ) =4,32,000 कलि अभी चल रहा है इसलिए इसे महायुग मेसे घटा देते है = 4,320,000-4,32,000= 3888000 वर्ष, 28 वे महायुग के बीत चुके है । बिता हुआ समय = 27 महायुग + 3888000 वर्ष उपरोक्त समय 7 वे मन्वन्तर का है । इससे पहले 6 मन्वन्तर पुरे बीत चुके है । 6 मन्वन्तर = 426 महायुग {चूँकि 1 मन्वन्तर = 71 महायुग } बिता हुआ समय = 426 महायुग +27 महायुग + 3888000 वर्ष। ध्यान रहे हमें नियतांक और शामिल करना होगा । वेदों के अनुसार ब्रह्मा के प्रत्येक मन्वन्तर के मध्य 4 युगों का समय अंतराल होता है । 6 मन्वन्तरों में कुल अन्तराल = 6 * 4 = 24 युग =2.4 महायुग {चूँकि कलि युग महायुग का 10 % भाग होता है} बिता हुआ समय = 2.4 महायुग+426 महायुग +27 महायुग + 3888000 वर्ष। अब हम ब्रह्मा के 51 वे वर्ष के 1 दिन तक की गणना कर चुके है । इससे पीछे नही जाना क्यू की इससे पीछे ब्रह्मा के 50 वे वर्ष का 360 वां दिन की रात्रि आ जायेगी , रात्रि मतलब विनाश । और उसे भी पूर्व जायेंगे तो ब्रह्मा के 50 वे वर्ष का 360 वां दिन आ जायेगा, वो दिन इस दिन से भिन्न है अर्थात ब्रह्मा का वो स्वप्न इस स्वप्न से भिन्न है अर्थात वो ब्रह्माण्ड इस ब्रह्माण्ड का भूतपूर्व है । इस ब्रह्माण्ड की कुल आयु = 2.4 महायुग+426 महायुग +27 महायुग + 3888000 वर्ष। = 455.4 महायुग+ 3888000 वर्ष। = 455.4 * 4,320,000 + 3888000 वर्ष {चूँकि 1 महायुग =4,320,000 } =1972944000 वर्ष इस कलि के 5000 वर्ष बित चुके है यदि उन्हें भी जोड़े तो ब्रह्माण्ड की कुल आयु = 1972944000 वर्ष + 5000 =1972949000 वर्ष !

28 वे महायुग के तिन (सत्य, त्रेता, दवापर) बित चुके है! 1 महायुग = 4,320,000 कलि महायुग का 10 % होता है =4,320,000*(10 /100 ) =4,32,000 कलि अभी चल रहा है इसलिए इसे महायुग मेसे घटा देते है =

4,320,000-4,32,000= 3888000 वर्ष, 28 वे महायुग के बीत चुके है ।

बिता हुआ समय = 27 महायुग + 3888000 वर्ष

उपरोक्त समय 7 वे मन्वन्तर का है । इससे पहले 6 मन्वन्तर पुरे बीत चुके है । 6 मन्वन्तर = 426 महायुग {चूँकि 1 मन्वन्तर = 71 महायुग }

बिता हुआ समय = 426 महायुग +27 महायुग + 3888000 वर्ष।

ध्यान रहे हमें नियतांक और शामिल करना होगा । वेदों के अनुसार ब्रह्मा के प्रत्येक मन्वन्तर के मध्य 4 युगों का समय अंतराल होता है । 6 मन्वन्तरों में कुल अन्तराल = 6 * 4 = 24 युग =2.4 महायुग {चूँकि कलि युग महायुग का 10 % भाग होता है}

बिता हुआ समय = 2.4 महायुग+426 महायुग +27 महायुग + 3888000 वर्ष।

अब हम ब्रह्मा के 51 वे वर्ष के 1 दिन तक की गणना कर चुके है । इससे पीछे नही जाना क्यू की इससे पीछे ब्रह्मा के 50 वे वर्ष का 360 वां दिन की रात्रि आ जायेगी , रात्रि मतलब विनाश । और उसे भी पूर्व जायेंगे तो
ब्रह्मा के 50 वे वर्ष का 360 वां दिन आ जायेगा, वो दिन इस दिन से भिन्न है अर्थात ब्रह्मा का वो स्वप्न इस स्वप्न से भिन्न है अर्थात वो ब्रह्माण्ड इस ब्रह्माण्ड का भूतपूर्व है ।

इस ब्रह्माण्ड की कुल आयु = 2.4 महायुग+426 महायुग +27 महायुग + 3888000 वर्ष। = 455.4 महायुग+ 3888000 वर्ष। = 455.4 * 4,320,000 + 3888000 वर्ष {चूँकि 1 महायुग =4,320,000 } =1972944000 वर्ष

इस कलि के 5000 वर्ष बित चुके है यदि उन्हें भी जोड़े तो ब्रह्माण्ड की कुल आयु = 1972944000 वर्ष + 5000 =1972949000 वर्ष !

Advertisements
Tagged with: , , , , , ,
Posted in Ancient Hindu Science, Sanatan/Hindu Life, Sanatan/Hindu Mythology

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s